Apara Ekadashi 2022: जानें अपरा एकादशी का शुभ मुहूर्त, महत्व, और पूजा विधि का समय

Apara Ekadashi 2022: एकादशी तिथि को हिंदू धर्म में विशेष महत्व दिया गया है। प्रत्येक माह में दो एकादशी पड़ती हैं। एक कृष्ण पक्ष में और दूसरी

क्यों होता है केमद्रुम योग बेहद हानिकारक? जानें इसके प्रभाव और उपाय

केमद्रुम योग: इंसान की जन्मकुंडली में शुभ और अशुभ दोनों योग बनते हैं। ज्योतिष इसके माध्यम से ही किसी जातक के भाग्य का विश्लेषण करते हैं। इन

क्या होते हैं कपूर के ज्योतिष फायदे? स्वास्थ्य पर भी होता है इसका लाभ!

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ या हवन के दौरान सामग्री में कपूर का इस्तेमाल किया जाता है। इसको काफी शुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि कपूर

क्या आपने गोमती चक्र के बारे में सुना है? जानिए इसके लाभ

गोमती चक्र: आज के दौर में हर व्यक्ति किसी न किसी परेशानी से जूझ रहा होता है। कोई महंगाई के कारण तो कोई जीवन में आर्थिक दृष्टि

एक रिश्ता दर्शाता है! आप असल जिंदगी में कैसे व्यक्ति हैं?

अक्सर हम कभी ऐसे इंसानों से मिलते हैं जिसके पास कई दोस्त हैं। उनके रिश्ते बहुत अच्छे होते हैं! क्या आपने सोचा है कि उनका इतना अच्छा

क्या यादें इंसान को भावुक बना देती हैं? क्यों सताती है किसी की याद?

यादें: अक्सर जब हम रोज काम से लौटकर घर पहुंचते हैं! तो आपके घर में डॉगी पास आकर झूमने या लिपटने लगता है। कई बार छोटे बच्चे

Ekdant Sankashti Chaturthi 2022: जानें इसका महत्व और शुभ मुहूर्त

Ekadanta Sankashti Chaturthi 2022: हिंदू धर्म में चतुर्थी तिथि का बहुत महत्व है। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, चतुर्थी तिथि भगवान श्रीगणेश को समर्पित है। गणेश जी की

Narad Jayanti 2022: बेहद रोचक है नारद मुनि की कहानी! जाने इसका शुभ मुहूर्त व तिथि

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, हर वर्ष नारद जयंती (Narad Jayanti 2022) कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाई जाती है। नारद जी भगवान विष्णु के परम भक्तों

Narsimha Jayanti 2022: जानिए नरसिंह जयंती का शुभ मुहूर्त, कथा और पूजा विधि

हिंदू पंचांग के अनुसार, नरसिंह जयंती (Narasimha Jayanti 2022) वैशाख शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है। इस दिन भगवान विष्णु के नरसिंह अवतार को

Pradosh Vrat 2022: मई में प्रदोष व्रत कब है? जाने पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

Pradosh Vrat 2022: हिंदू कलैंडर के अनुसार हर महीने में दो पक्ष होते हैं। कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष। इनमे प्रदोष तिथि महीने में दो बार होती